Labels

भोगाली | Hindi poem by Sumi Das

भोगाली

 


असम में आई भोगाली 

ठंडी हवा लेकर

भोगाली के लिए माँ ने पकायी

स्वादिष्ट लड्डू और पकवान|

 

भोग का बिहु है भोगाली

सुन्दर- सुगंध,

गाँववाले मिलकर 'भोज' खाते

आनन्द ही आनन्द |


*********************


चुमि दास

आठवीं कक्षा

घटनगर मध्य इंराजी विद्यालय 

छयगाँव ब्लॅाक



चित्रण : संगीता काकति


Post a Comment

0 Comments